Home कहानियाँ / Stories तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein PDF Download Free by Manav...

तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein PDF Download Free by Manav Kaul

पुस्तक नाम : तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein
Book Language : हिंदी | Hindi
पुस्तक का साइज़ : 2.7 MB
  • कुल पृष्ठ : 174

  • तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein PDF, तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein PDF Download, तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein Book, तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein epub download ,तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein in Hindi PDF Download , तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein किताब डाउनलोड करें, तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein Kitab Download kro, तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein Read Online in Hindi Free, तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein Book Download Free, तुम्हारे बारे में / Tumhare Baare Mein Book by   मानव कौल / Manav Kaul  

    मैं उस आदमी से दूर भागना चाह रहा था जो लिखता था। बहुत सोच-विचार के बाद एक दिन मैंने उस आदमी को विदा कहा जिसकी आवाज़ मुझे ख़ालीपन में ख़ाली नहीं रहने दे रही थी। मैंने लिखना बंद कर दिया। क़रीब तीन साल कुछ नहीं लिखा। इस बीच यात्राओं में वह आदमी कभी-कभी मेरे बग़ल में आकर बैठ जाता। मैं उसे अनदेखा करके वहाँ से चल देता। कभी लंबी यात्राओं में उसकी आहट मुझे आती रही, पर मैं ज़िद में था कि मैं इस झूठ से दूर रहना चाहता हूँ। इस बीच लगातार मेरे पास फ़ोन था, जिससे मैं यात्राओं में तस्वीरें खींचता रहा। फिर किसी बच्चे की तरह यहाँ-वहाँ देखकर कि कहीं वह आदमी आस-पास तो नहीं है? मैं अपने फ़ोन में नोट्स खोलता और ठीक उस वक़्त का जो भी महसूस हो रहा है, जिसे मैं छू भी सकता हूँ, दर्ज कर लेता। इन दस्तावेज़ों को उस वक़्त खींची तस्वीरों के साथ इंस्टाग्राम पर पोस्ट कर देता। मानो अंतरिक्ष में संदेश छोड़ा हो। शायद मैं इस तरह का लिखना बहुत समय से तलाश रहा था, जो न कविता है, न कहानी है, वह बस उस वक़्त की सघनता का एक चित्र है जिसमें पतंग बिना धागे के उड़ रही है।
    इस किताब में यात्राएँ हैं, नाटकों को बनाने का मुक्त अकेलापन है, कहानियाँ हैं, मौन में बातें हैं, इंस्टाग्राम की लिखाई है और लिखने की अलग-अलग अवस्थाएँ हैं। एक तरीक़े का बाँध था, जिसका पानी कई सालों से जमा हो रहा था। इस किताब में मैंने वह बाँध तोड़ दिया है।—- मानव कौल

    यहाँ क्लिक कर किताब को रेट करें!
    (कुल: 5 औसत: 4.6)
    मानव कौल / Manav Kaul
    कश्मीर के बारामूला में पैदा हुए मानव कौल, होशंगाबाद (म.प्र.) में परवरिश के रास्ते पिछले 20 सालों से मुंबई में फ़िल्मी दुनिया, अभिनय, नाट्य-निर्देशन और लेखन का अभिन्न हिस्सा बने हुए हैं। अपने हर नए नाटक से हिंदी रंगमंच की दुनिया को चौंकाने वाले मानव ने अपने ख़ास गद्य के लिए साहित्य-पाठकों के बीच भी उतनी ही विशेष जगह बनाई है। इनकी पिछली दोनों किताबें ‘ठीक तुम्हारे पीछे’ और ‘प्रेम कबूतर’ दैनिक जागरण नीलसन बेस्टसेलर में शामिल हो चुकी हैं। यह इनकी तीसरी किताब है, जो हिंदी लिखाई में एक अनूठा प्रयोग भी है।
    RELATED ARTICLES

    किंचुलका: नैनं छिन्दन्ति शस्त्राणि | Kinchulka : Nainam Chindanti Shastrani Hindi PDF Download Free by Vikas Bhanti

    "पापा, क्या हम राक्षस हैं?" "तो फिर हमारे पूर्वज किंचुलका को किंचुलकासुर क्यों कहते हैं?" भूत,...

    एडियोस ढाई आखर की ढाई कहानियाँ | Adios Dhai Aakhar Ki Dhai Kahaniyan Hindi PDF Download Free by Dr. Jitendra Kumar Soni

    Adios: Dhai Aakhar Ki Dhai Kahaniyan | एडियोस: ढाई आखर की ढाई कहानियाँ प्यार कभी भी पूर्णता से बताया...

    राम (राम-रावण कथा खण्ड-तीन) | Ram (Ram-Ravan katha Book 3) Hindi PDF Download Free by Sulabh Agnihotri

    रामकथा को अलौकिकता के दायरे से निकालकर, मानवीय क्षमताओं के स्तर पर परखने की शृंखला का नाम है ‘राम-रावण कथा’। इसकी विशेषता...

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    औघड़ | Aughad

    पुस्तक का अंश : गर्मी जा चुकी थी, ठंड अपना...

    Rich Dad Poor Dad Hindi PDF Download Free by Robert Kiyosaki | रिच डैड पुअर डैड PDF

    यह बेस्टसेलिंग पुस्तक सरल भाषा में सिखाती है कि पैसे की सच्चाई क्या है और अमीर कैसे बना...

    [PDF] 12th Fail PDF Download in Hindi Free by Anurag Pathak | ट्वेल्थ फेल | Twelfth Fail PDF

    ट्वेल्थ फेल सच्ची कहानी और वास्तविक घटनाओं पर आधारित एक ऐसा उपन्यास है जिसने हिंदी साहित्य जगत में...

    बनारस टॉकीज / Banaras Talkies by Satya Vyas Download Free PDF

    पुस्तक का अंश : दर्शकों के समक्ष भरोसा हासिल करना
    यहाँ क्लिक कर किताब को रेट करें!
    (कुल: 5 औसत: 4.6)
    Copy link
    Powered by Social Snap