महाश्वेता देवी / Mahashweta Devi

अगर आपको आपके द्वारा खोजी गयी पुस्तक नहीं मिलती हैं तो आप दुबारा खोज हैं

लेखक की सारी पुस्तकें

सामने देखो / Samne Dekho

'सामने देखो’ उपन्यास की पृष्ठभूमि भी वास्तविकता के धरातल पर टिकी हुई है, जिसमें सुरनाथ, शिवनाथ, सुनीपा और...

जन्म यदि तब / Janm Yadi Tav

वह कविता कहाँ गयी, बिटिया शर्मिष्ठा? अरे, वह कविता, जो मैंने लिखी थी और फेंक दी थी? हाँ,...

जटायु / Jatayu

महाश्वेता देवी के उपन्यास का मतलब ही है, कोई भिन्नतर स्वाद! किसी भिन्न जीवन की कथा! उनकी कथा-बयानी...

झांसी की रानी / Jhansi Ki Rani

‘झाँसी की रानी’ महाश्वेता देवी की प्रथम रचना है। स्वयं उन्हीं के शब्दों में, ‘इसी को लिखने के...