Home स्वास्थ्य / Health मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak PDF Download Free...

मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak PDF Download Free by Ankita Jain

पुस्तक नाम : मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak
Book Language : हिंदी | Hindi
पुस्तक का साइज़ : 4 MB
  • कुल पृष्ठ : 109

  • मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak PDF, मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak PDF Download, मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak Book, मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak epub download ,मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak in Hindi PDF Download , मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak किताब डाउनलोड करें, मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak Kitab Download kro, मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak Read Online in Hindi Free, मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak Book Download Free, मैं से माँ तक / Mein Se Maa Tak Book by   अंकिता जैन / Ankita Jain  

    माँ बनने के साथ शारीरिक, मानसिक और मनोवैज्ञानिक स्तर पर जो परिवर्तन होते हैं और अनुभूतियों में जो उतार-चढ़ाव आते हैं उनके बारे में बहुत अंतरंगता से मैं से माँ तक में बात की गयी है। साथ ही कुटुम्ब को आगे बढ़ाने के लिए जो परिवार और समाज का दबाव और अपेक्षा का बोझ एक नयी-नवेली दुल्हन पर डाला जाता है, उसकी भी चर्चा है।
    माँ बनने पर औरत के पूरे व्यक्तित्व, सोच और जीवन-मूल्यों में परिवर्तन आ जाता है, एक तरह से उसका अस्तित्व ही बदल जाता है और माँ का रूप उसके अन्य सभी अस्तित्वों पर जैसे हावी हो जाता है।
    मैं से माँ तक अनुभव यात्रा केवल अंकिता जैन की ही नहीं, बल्कि वह उन सब महिलाओं और बहुत से दम्पतियों की है जो जीवन के इस सुन्दर मोड़ पर हैं। वे सब लेखिका की यात्रा में अपनी यात्रा की कहानी पायेंगे।
    अपनी प्रेग्नेंसी के दौरान अंकिता जैन ने प्रभात खबर और लल्लनटॉप में ‘माँ-इन-मेकिंग’ स्तम्भ लिखना शुरू किया, जिसे पाठकों ने बहुत पसन्द किया और वहीं से इस पुस्तक की प्रेरणा मिली।

    माँ बनूँ या नहीं?

    अब चाकू से कटती हूँ तो खून नहीं दिखता तेल के उचटे छींटों से भी खाल नहीं जलती बूँद पसीने की माथे पर कई बार नहीं दिखती अब बच्चे की आह से पहले अपनी आह नहीं दिखती

    भूखी हूँ कुछ पेट में डालूँ या प्यासी हूँ दो घूँट निकालूँ ऐसी कोई ख़्वाहिश अब दरकार नहीं होती अब बच्चे की भूख के आगे अपनी चाह नहीं दिखती

    आँख मूँद कुछ पल को सो लूँ थोड़ा अपने वक़्त को तोलूँ, अपने मिलने ना मिलने में अब कोई तकरार नहीं दिखती अब बच्चे की आस के आगे अपनी आस नहीं दिखती।

    यहाँ क्लिक कर किताब को रेट करें!
    (कुल: 3 औसत: 5)
    अंकिता जैन / Ankita Jain
    चम्बल की घाटियों में बसे एक छोटे से गाँव जौरा की रहने वाली अंकिता आजकल सतपुड़ा की वादियों में बसे जशपुरनगर में अपने गृहस्थ जीवन और लेखन दोनों को आनंद ले रही हैं। यूँ तो अंकिता ने बनस्थली विद्यापीठ से कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में M.Tech करने के बाद CDAC, Pune में साल भर Artificial Intelligence में शोधकार्य किया। फिर भोपाल के बंसल कॉलेज में बतौर प्राध्यापक पढ़ाया भी। लेकिन नौकरी से उखड़े मन ने उन्हें लेखन जगत में ला खड़ा किया। जहाँ उन्होंने बतौर सम्पादक एवं प्रकाशक मासिक पत्रिका ‘रूबरू दुनिया’ का तीन साल प्रकाशन किया। जो अब जल्द ही मोबाइल एप के रूप में पाठकों के बीच होगी। लेखन जगत में अंकिता को उनका पहला ब्रेक फ़्लैश मोब गीत ‘मुंबई143’ से मिला जिसके बोल अंकिता ने लिखे थे। जो सबसे बड़ा फ़्लैश मोब होने की वजह से लिम्का बुक ऑफ़ नेशनल रिकॉर्ड में अपनी जगह बना चुका है। उसके बाद अंकिता की लिखी कहानी को अंतरराष्ट्रीय कहानी लेखन प्रतियोगिता में टॉप टेन में जगह मिली तो उन्हें लगा कि वो थोड़ा-बहुत कहानी लिख सकती हैं। इस ख़याल ने इन्हें बिग एफ़एम के फ़ेमस शो 'यादों का इडियट बॉक्स' एवं 'यूपी की कहानियाँ' तक पहुँचाया। रेडियो पर अब तक अंकिता की दो दर्जन कहानियाँ प्रसारित हो चुकी हैं। 2015 में अंकिता के लिखे पहले अंग्रेज़ी उपन्यास 'The Last Karma' को पाठकों ने पसंद किया। इस संग्रह के साथ अंकिता अपनी पहली हिंदी किताब लेकर आपके समक्ष उपस्थित हैं।
    RELATED ARTICLES

    एक्यूप्रेशर और स्वस्थ जीवन / ACUPRESSURE AUR SWASTHA JEEVAN PDF Free Download by DR. A.K. SAXENA

    एक्यूप्रेशर प्राचीनतम चिकित्सा-पद्धतियों में से एक है। यह पूर्णतया प्राकृतिक उपचार पर आधारित है। यह एक सरल; प्रभावकारी...

    एक्यूप्रेशर चिकित्सा / Acupressure Chikitsa PDF Free Download by A.K. Saxena

    पिछले कुछ वर्षों में एक्यूप्रेशर ने काफी ख्याति अर्जित की है, जिसका प्रमुख कारण यह है कि इसमें...

    मैं कौन हूँ | Main Kaun Hoon PDF Free Download By Swami Vivekananda

    ‘मैं कौन हूँ’ में स्वामीजी ने सरल शब्दों में एक आम आदमी के उन सवालों के जवाब दिए...

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    औघड़ | Aughad

    पुस्तक का अंश : गर्मी जा चुकी थी, ठंड अपना...

    Rich Dad Poor Dad Hindi PDF Download Free by Robert Kiyosaki | रिच डैड पुअर डैड PDF

    यह बेस्टसेलिंग पुस्तक सरल भाषा में सिखाती है कि पैसे की सच्चाई क्या है और अमीर कैसे बना...

    [PDF] 12th Fail PDF Download in Hindi Free by Anurag Pathak | ट्वेल्थ फेल | Twelfth Fail PDF

    ट्वेल्थ फेल सच्ची कहानी और वास्तविक घटनाओं पर आधारित एक ऐसा उपन्यास है जिसने हिंदी साहित्य जगत में...

    बनारस टॉकीज / Banaras Talkies by Satya Vyas Download Free PDF

    पुस्तक का अंश : दर्शकों के समक्ष भरोसा हासिल करना
    यहाँ क्लिक कर किताब को रेट करें!
    (कुल: 3 औसत: 5)
    Copy link
    Powered by Social Snap