Home व्यक्तित्व विकास / Personality Development व्यक्तित्व का सम्पूर्ण विकास | Vyaktitva Ka Sampoorna Vikas Hindi PDF Download...

व्यक्तित्व का सम्पूर्ण विकास | Vyaktitva Ka Sampoorna Vikas Hindi PDF Download Free By Swami Vivekananda

‘व्यक्तित्व का संपूर्ण विकास’ में स्वामीजी ने सरलतम शब्दों में एक आम आदमी को उसके विकास के पूर्णत्व बिंदु तक पहुँचाने का मार्ग प्रेरक और ओजपूर्ण शब्दों में प्रशस्त किया है। उनके शब्दों को जीवन में उतारकर व्यक्ति न केवल अपना बल्कि अन्य उपेक्षित लोगों के जीवन में भी आशा का संचार कर सकता है।

पुस्तक का विवरण (Description of Book)

Particulars(विवरण) eBook Details (Size, Writer, Lang. Pages(आकार, लेखक, भाषा,पृष्ठ की जानकारी)
पुस्तक का नाम / Name of Book व्यक्तित्व का सम्पूर्ण विकास | Vyaktitva Ka Sampoorna Vikas
 पुस्तक का लेखक / Name of Authorस्वामी विवेकानंद / Swami Vivekananda
 पुस्तक की भाषा / Language of Book हिंदी / Hindi
 पुस्तक का आकार / Size of Book  2 MB
  कुल पृष्ठ / Total Pages  79
 पुस्तक की श्रेणी / Category of Bookव्यक्तित्व विकास / Personality Development
यहाँ क्लिक कर किताब को रेट करें!
(कुल: 8 औसत: 4.3)
स्वामी विवेकानंद / Swami Vivekananda
स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी, 1863 को कलकत्ता में हुआ था। इनका बचपन का नाम नरेंद्रनाथ था। इनके पिता श्री विश्‍वनाथ दत्त कलकत्ता हाईकोर्ट के एक प्रसिद्ध वकील थे। इनकी माता श्रीमती भुवनेश्‍वरी देवीजी धामर्क विचारों की महिला थीं। बचपन से ही नरेंद्र अत्यंत कुशाग्र बुद्ध के और नटखट थे। परिवार के धामर्क एवं आध्यात्मक वातावरण के प्रभाव से बालक नरेंद्र के मन में बचपन से ही धमर् एवं अध्यात्म के संस्कार गहरे पड़ गए। पाँच वर्ष की आयु में ही बड़ों की तरह सोचने, व्यवहार करनेवाला तथा अपने विवेक से हर जानकारी की विवेचना करनेवाला यह विलक्षण बालक सदैव अपने आस-पास घटित होनेवाली घटनाओं के बारे में सोचकर स्वयं निष्कर्ष निकालता रहता था। नरेंद्र ने श्रीरामकृष्णदेव को अपना गुरु मान लिया था। उसके बाद एक दिन उन्होंने नरेंद्र को संन्यास की दीक्षा दे दी। उसके बाद गुरु ने अपनी संपूर्ण शक्‍त‌ियाँ अपने नवसंन्यासी शिष्य स्वामी विवेकानंद को सौंप दीं, ताकि वह विश्‍व-कल्याण कर भारत का नाम गौरवान्वत कर सके। 4 जुलाई, 1902 को यह महान् तपस्वी अपनी इहलीला समाप्त कर परमात्मा में विलीन हो गया।
RELATED ARTICLES

शक्तिदायी विचार | Shaktidayi Vichar Hindi PDF Download Free by Swami Vivekananda

इस पुस्तक में स्वामीजी के उन चुने हुए सद्वाक्यों एवं विचारों का संग्रह है, जो उन्होंने विभित्र विषयों पर प्रकट किये थे।...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

औघड़ | Aughad

पुस्तक का अंश : गर्मी जा चुकी थी, ठंड अपना...

Rich Dad Poor Dad Hindi PDF Download Free by Robert Kiyosaki | रिच डैड पुअर डैड PDF

यह बेस्टसेलिंग पुस्तक सरल भाषा में सिखाती है कि पैसे की सच्चाई क्या है और अमीर कैसे बना...

[PDF] 12th Fail PDF Download in Hindi Free by Anurag Pathak | ट्वेल्थ फेल | Twelfth Fail PDF

ट्वेल्थ फेल सच्ची कहानी और वास्तविक घटनाओं पर आधारित एक ऐसा उपन्यास है जिसने हिंदी साहित्य जगत में...

बनारस टॉकीज / Banaras Talkies by Satya Vyas Download Free PDF

पुस्तक का अंश : दर्शकों के समक्ष भरोसा हासिल करना
यहाँ क्लिक कर किताब को रेट करें!
(कुल: 8 औसत: 4.3)
Copy link
Powered by Social Snap